शनिवार, मई 24, 2008

नाम के पीछे क्या है? (2)

गतांक से आगे...

BASF- इस जर्मन रसायन कंपनी का नाम Badische Anilin und Soda Fabrik से लिया गया है. इसमें BASF के शुरूआती उत्पादों और उत्पादन स्थल का समावेश है. यानि जर्मनी के बाडेन प्रांत स्थिति एनलिन और सोडा बनाने वाली कंपनी.

BMW- Bayerische Motoren Werke यानि बावेरियन मोटर वर्क्स की स्थापना 1917 में जर्मनी के बावेरिया क्षेत्र के मुख्य नगर म्यूनिख में हुई थी. कंपनी की स्थापना मूल रूप से विमानों के इंजन के निर्माण के लिए हुई थी. शायद इसीलिए कंपनी का लोगो एक घूमता प्रोपेलर है.

Bridgestone- इस जापानी टायर निर्माता कंपनी को इसके संस्थापक Shorijo Ishibashi का नाम मिला है. दरअसल Ishibashi का जापानी भाषा में अर्थ होता है- Stone Bridge.

Canon- The Precision Optical Instruments Laboratory का नया नाम इसके द्वारा निर्मित पहले कैमरे Kwannon पर आधारित है. इसे Kannon से भी जोड़ कर देखा जाता है जो कि करुणा के बोधिसत्व का जापानी नाम है.

Casio- कंपनी के संस्थापक Kashio Tadao के नाम से बना है ये ब्रांड. टोक्यो में 1946 में स्थापित ये कंपनी कैलकुलेटरों के अलावा भी अनेक तरह के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बनाती है.

Coca-Cola- ये नाम कोका की पत्तियों और कोला की फली से लिया गया है, जो कि 1885 में बाज़ार में स्वास्थ्यवर्द्धक दवाई के रूप में उतारे गए पेय पदार्थ के मूल फ़्लेवर में शामिल था.

Daewoo- कोरियाई भाषा में इसका मतलब है- Great Universe. इस उद्योग समूह को 1990 के दशक में संकट से गुजरना पड़ा. हालाँकि 1999 में दिवालिया घोषित होने के बाद भी इस उद्योग समूह की कई कंपनियाँ अभी सक्रिय हैं. वैसे अब इसकी मोटर निर्माण इकाइयाँ अमरीका के जेनरल मोटर्स और भारत के टाटा समूह के नियंत्रण में हैं.

eBay- इस ऑनलाइन बाज़ार को इसके संस्थापक Pierre Omidyar ने अपनी इंटरनेट कंसल्टेंसी Echo Bay Technology Group का नाम देने का मंसूबा बनाया था. लेकिन Echo Bay नाम एक स्वर्ण खनन कंपनी पहले ही रजिस्टर्ड करा चुकी थी.

Fiat- यह नाम Fabbrica Italiana Automobili Torino यानि Italian Automobile Factory of Turin का संक्षिप्त रूप है. सोनिया गांधी भी उत्तरी इटली के Turin शहर की हैं.

Google- ये नाम googol शब्द से बना है जो एक बहुत बड़ी संख्या होती है. 1 के आगे 100 बार शून्य लगाने से बनी संख्या. संस्थापकों का दावा था कि उनका सर्च इंजन इतनी बड़ी संख्या में सूचनाओं को खंगाल सकता है. अब तो google को प्रमुख शब्दकोशों में भी एक क्रिया के रूप में शामिल किया जा चुका है जिसका मतलब होता है गूगल सर्च इंजन की सहायता से इंटरनेट पर जानकारी जुटाना.

Hewlett-Packard- कहा जाता है कि कंपनी के संस्थापकों Bill Hewlett और David Packard ने एक सिक्का उछाल कर इस बात का फ़ैसला किया कि दोनों में से किसका नाम शुरू में आएगा.

Ikea- इस प्रमुख स्वीडिश फ़र्नीचर कंपनी का नाम इसके संस्थापक Ingvar Kamprad ने अपने नाम में अपने पैतृक घर यानि Elmtaryd नामक फ़ार्म और पास के गाँव Agunnaryd के पहले अक्षरों को मिला कर बनाया है.

Intel- संस्थापक Bob Noyce और Gordon Moore अपनी माइक्रोचिप कंपनी को Moore Noyce नाम देना चाहते थे, लेकिन एक होटल कंपनी ने पहले ही ये नाम ले रखा था. मजबूरी में Integrated Electronics के हिस्सों को जोड़ कर Intel बनाया गया.

Kodak- ये एक अनूठा ब्रांड नाम है. कैमरा कंपनी के संस्थापक जॉर्ज ईस्टमैन ने सिर्फ़ इसलिए ये नाम चुना कि ये सुनने में अच्छा लगता है. हालाँकि, अपनी माँ के साथ सलाह-मशविरा कर ये नाम चुनते वक़्त उन्होंने इस बात का विशेष ध्यान रखा कि नाम को बिगाड़ा नहीं जा सके, उसका ग़लत उच्चारण नहीं किया जा सके. ईस्टमैन ने इस बात का भी ध्यान रखा कि इसे किसी और उत्पाद, कंपनी या स्थान से नहीं जोड़ा जा सके.

>......जारी........>

3 टिप्‍पणियां:

विचार ने कहा…

बढ़िया बातें खोजी हैं

Gyandutt Pandey ने कहा…

यह तो काम की जानकारी जुगाड़ी जी एक जगह पर। धन्यवाद।

अनूप शुक्ल ने कहा…

बहुत अच्छा!